Connect with us

Trending News

मुसलमानों का ऐसा नेता जो जनता के दिलों पर करता है राज.. राहुल और प्रियंका भी इस की फैन फॉलोइंग के हो चुके हैं कायल

Published

on

उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक नाम तो आपने सुना होगा जिसकी फैन फॉलोइंग के चर्चे देश भर में मशहूर है कांग्रेश के फायर ब्रांड नेता के रूप में अपनी पहचान रखने वाला यह नेता अपनी फैन फॉलोइंग को लेकर अक्सर चर्चा में रहता है भले ही यह नेता चुनाव हार गया हो लेकिन जनता के बीच इसकी छवि एक साफ-सुथरे और तेजतर्रार नेता की है।

जिसकी बात प्रशासन भी नहीं डाल सकता यही कारण है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद भी इस नेता के दामन पर एक भी भ्रष्टाचार जैसे कोई दाग नहीं है गरीब और मजदूरों की लड़ाई लड़ने वाला सहारनपुर का यदि कई नेता प्रियंका और राहुल का बेहद करीबी है जी हां आज हम बात कर रहे हैं शख्सियत में कांग्रेस के कद्दावर नेता इमरान मसूद की जो सहारनपुर यानी कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आते हैं।

इमरान मसूद अक्सर अपने तेज तर्रार बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं हाल ही मैं हुए लोकसभा चुनाव में इमरान मसूद एक ऐसे नेता थे जो बहुत कम वोटों के अंतर से चुनाव हारे थे वरना कांग्रेस के साथ असर प्रत्याशी अपनी जमानत बचाने में भी नाकाम रहे थे यही कारण है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बेहद खास करीबियों में से एक माने जाते हैं हाल ही में राज्यसभा की सीटों को लेकर भी चर्चा में इमरान मसूद का नाम सामने आया था।

कांग्रेस ने पहले से कई बड़े पदों से नवा चुकी है माना जाता है कि सहारनपुर क्षेत्र में कांग्रेस का वोट बैंक ना होते हुए इमरान मसूद की अपनी छवि पर कांग्रेश के प्रत्याशी जीत हासिल करते हैं यही कारण है कि सहारनपुर क्षेत्र से इमरान मसूद ने 3 विधायकों को जीता कर इस बार विधानसभा भेजा है इससे पहले भी इमरान मसूद अपने दमदार चुनाव प्रचार को लेकर सुर्खियों में रहे हैं।हाल ही में हुए उपचुनाव में इमरान मसूद के भाई नोमान मसूद बहुत कम वोटों के अंतर से चुनाव हारे थे इमरान मसूद की फैन फॉलोइंग का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं.

जब लोकसभा चुनाव के दौरान हमारे पत्रकारों ने जनता से पूछा था तो उन्होंने कहा था कि इमरान मसूद भाजपा के प्रत्याशी को हरा नहीं पा रहे हैं यही कारण है कि हम इमरान मसूद को वोट नहीं दे पा रहे हैं लेकिन हमारा नेता इमरान ही है वोटरों ने खुलकर इस बात को मानना था।कि इमरान मसूद के साथ अगर दलित वोट बैंक जुड़ जाता तो इमरान मसूद भाजपा के नेता को हरा देते और लोग एक तरफा उन्हें वोट देते लेकिन उसके बावजूद माहौल भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ होते थेबसपा के प्रत्याशी रहमान की तरफ था फिर भी मोटर यह मानता है कि हाजी फजलुर रहमान उनके लिए कोई खास नहीं है उनका असली नेता इमरान मसूद है और उनके छोटे से लेकर बड़े काम तक इमरान मसूद पीछे का नेता करा सकता है आप इसी बात से अंदाजा लगा लीजिए बस उसकी लोकप्रियता कैसी होगी

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Reimagine.News – News Source

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending News

दो रोटी कमाने के लिए निकले थे घर से बाहर अब घर पहुचने के लिए जद्दो जहद कर रहे है

Published

on

By

इलाहाबाद से जालौन। लगभग 400 KM पैदल, 2 साल बच्चो से लेके 70 साल का बुज़ुर्ग, जेब में चंद पैसे खाने का कोई इंतेज़ाम नही, चल दिये भगवान भरोसे, आपको बता दें ये वही परिवार हैं जो ठेले पे पानी की फुल्की बेचते थे अब धंधा बन्द है किराये का पैसा नही, ऐसे लोगो की मदद कीजिये।

फिलहाल मुख्यमंत्री योगी योगी आदित्यनाथ ने पड़ोसी मुख्यमंत्रीयो से बात कर इन लोगो को अपने घर पहुँचवाने के लिए कोशिश शुरू करदी है और पुलिस इसपर अमल भी करने लगी है।

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Reimagine.News – News Source

Continue Reading

Trending News

सोशल मीडिया पर वायरल हुए एसपी मेरठ के आपत्तिजनक बयान पर भाजपा के दिग्गज नेता मुख्तार अब्बास नकवी का बड़ा बयान

Published

on

By

पिछले कुछ दिनों से लगातार मेरठ एसपी का बयान सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है जिस पर मेरठ पुलिस के एसपी के साथ कुछ पुलिस वाले देख रहे हैं जिसमें मेरठ एसपी ने एक विवादित टिप्पणी की है और पाकिस्तान को लेकर बयान दिया है.

मेरठ एसपी ने कहा है अगर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने हैं तो पाकिस्तान चले जाओ साथ ही साथ इस बयान में एसपी ने कुछ ऐसी बातें कहीं हैं जिसका सोशल मीडिया पर लगातार विरोध हो रहा है साथी उन पर कार्रवाई की भी मांग उठाई है जिसके बाद अभी तक यूपी पुलिस की तरफ से कोई भी स्पष्टीकरण सामने नहीं आया है.

फिलहाल इस पर कई नेताओं के बयान सामने आ रहे हैं इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता मुख्तार अब्बास नकवी की तरफ से अब बड़ा बयान सामने आया है मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि अगर यह वीडियो सही है तो एसएसपी पर कार्यवाही जरूरी है और कार्यवाही होगी साथ ही साथ मुख्तार अब्बास नकवी ने पुलिस की हिंसा पर भी सवाल खड़े किए हैं और कहा है कि किसी भी तरह की हिंसा की कोई भी जगह नहीं है.

चाहे वह समाज द्वारा की जाती हो या फिर पुलिस द्वारा की जाती हो मुख्तार अब्बास नकवी के इस बयान की अब सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रही है. केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘किसी भी स्तर पर हिंसा (चाहे वह पुलिस द्वारा हो या भीड़ द्वारा) अस्वीकार्य है. यह लोकतांत्रिक देश का हिस्सा नहीं हो सकता. पुलिस को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जो निर्दोष हैं, वे पीड़ित न हों.

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Reimagine.News – News Source

Continue Reading

Trending News

यूपी में प्रियंका गांधी ने उठाया बड़ा कदम भाजपा में खलबली, यूपी पुलिस के फूले हाथ-पांव

Published

on

By

कांग्रेस महासचिव बनने के बाद प्रियंका गांधी लगातार उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय नजर आ रही है पिछले कुछ दिनों से लगातार प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार पर लगातार हमलावर है अक्सर ट्विटर से लेकर सड़क तक प्रियंका गांधी योगी सरकार को लेकर तंग करती हुई नजर आई थी

हाल ही में प्रियंका गांधी ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर योगी आदित्यनाथ पर बड़ा हमला किया था अब प्रियंका गांधी ने नागरिक संशोधन कानून का विरोध कर रहे रात में लिए गए पूर्व आईएएस अधिकारी से मिलने के लिए उनके घर पहुंच गई है जिसके बाद पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए हैं आपको बता दें अधिकारी नागरिक संशोधन को लेकर विरोध करने पर चर्चा में आए थे

प्रियंका गांधी वाड्रा को सदफ जाफर के परिवार का दौरा करने के दौरान रास्ते में रोक लिया गया। सदफ जाफर को CAA का विरोध करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। प्रियंका गांधी ने कहा, “सड़क पर हमें रोकने का कोई मतलब नहीं है। यह एसपीजी का नहीं बल्कि यूपी पुलिस का मुद्दा है.

यूपी (पूर्व) की कांग्रेस महासचिव, प्रियंका गांधी वाड्रा पूर्व आईपीएस अधिकारी एस. आर. दारापुरी के परिवार से मिलने पहुंचीं, जिन्हें नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने के लिए गिरफ्तार किया गया था।

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by Reimagine.News – News Source

Continue Reading

Trending

a venture of reimagine labs media pvt.ltd.